वैस्कुलर और एंडोवास्कुलर सर्जरी

वॅस्क्युलरऔर एंडोवास्कुलर सर्जरी के पारस संस्थान संवहनी प्रणाली से संबंधित सर्जरी की एक पूरी श्रृंखला प्रदान करता है-आर्टरीस, नसों की मेडिकल थेरपी, मिनिमल इन्वेसिव कैथेटर प्रक्रियाएं और सर्जिकल रीकन्स्ट्रक्षन संस्थान राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय प्रतिष्ठित डॉक्टरों और चिकित्सकों द्वारा समर्थित है |

पारस  इंस्टीट्यूट ऑफ व्हास्कुलर एंड एंडोवास्कुलर सर्जरी ने कई बड़े और छोटी शिकायतों के लिए परामर्श और उपचार प्रदान किया है जो मरीजों का अनुभव हो सकता है- गैंग्रीन, वैरिकाज़ नसों, पैर की सूजन, पैर में दर्द, अल्सर, स्ट्रोक या परॅलिसिस।

संस्थान में- एनोरेज़मिकल सर्जरी, हेमोडायलिसिस और वॅस्क्युलर इंजुरीस के लिए वॅस्क्युलर आक्सेस प्रक्रिया। यह संस्थान न्यूरोलॉजी, कार्डियोलॉजी , एंडोक्रिनोलॉजी , रेडियोलॉजी और नेफ्रोलॉजी जैसे सभी विभागों के साथ निकट समन्वय में काम करता है, जो व्यापक कवरेज सुनिश्चित करता है।

पारस इंस्टीट्यूट ऑफ व्हास्कुलर एंड एंडोवास्कुलर सर्जरी, ट्रॉमा के मामलों में संवहनी उपचार प्रदान करने में माहिर हैं।

यह  अत्याधुनिक बुनियादी ढांचे से लैस और संचालन थिएटर, नाड़ी के विशेषज्ञ पेरिफेरल आर्टरीस का विस्तृत एवॅल्यूयेशन और ब्लॉकएजसकरने के लिए वेनस  सिस्टम  का प्रदर्शन करने में सक्षम हैं।

पारस इंस्टीट्यूट ऑफ व्हास्कुलर एंड एंडोवास्कुलर सर्जरी व्यापक उपचार में निम्न शामिल हैं:

  • मेटिक्युलस डाइयग्नॉस्टिक एवॅल्यूयेशन्स
  • चिकित्सा प्रबंधन- आवश्यकताओं के अनुसार
  • गैर इनवेसिव वॅस्क्युलर परीक्षण।
  • मिनिमली इन्वेसिव – डाइयग्नॉस्टिक आंजियोग्रफी और एंडोवस्कुलर चिकित्सीय।
  • ट्राउमा/मेजर और माइनर मामलों के लिए सर्जिकल उपचार।
  • फॉलो-उप और पोस्ट – रिकवरी रीहॅबिलिटेशन

ट्रीटमेंट ऑफ डाइयेबेटिक फुट और पेरिफेरल आर्टीरियल डिसीज़:

डेपॉज़िशन ऑफ फॅटी डेपॉज़िट्स इन आर्टरी वॉल्स ब्लॉकेज नॅरोयिंग ऑफ आर्टरीस टेक्स प्लेस। इस वजह से महत्वपूर्ण अंगों के लिए रक्त का प्रवाह कॉंप्रमाइज़्ड किया जाता है। यह अपर्याप्त रक्त प्रवाह शरीर के पैर और अंगों को प्रभावित करता है जो रोग के पहले प्रभाव दिखाते हैं। चलने या कसरत करते समय रोगी पैर, जांघ या एडी में दर्द, थका हुआ या भारी महसूस कर रहे होते हैं पैर या पैरों पर , ठंड या पीला पैर, नंबनेस या टिंगलिंग इन टोस ओर फीट, पैरों और पैरों पर बाल में कमी, और / या पैर, पैर की उंगलियों या पैरों पर लगातार अल्सर या संक्रमण। यदि अनट्रीटेड छोड़ दिया जाता है तो गैंग्रीन हो सकता है। वास्कुलर और एंडोवास्कुलर विशेषज्ञों की टीम डिस्टील बायपास ऑपरेशन और एंजियोप्लास्टी तकनीकों का उपयोग करके जटिल रिवॅस्क्युलराइज़ेशन्स करते  है।

वैरिकाज़ नसों के लेजर उपचार और मॅनेज्मेंट ऑफ वीनस डिसीज़:

वैरिकाज़ नसें गंभीर शारीरिक और मनोवैज्ञानिक असुविधा का कारण है, जिसमें पैर की त्वचा और अल्सर का डिस्कोलोरेषन भी शामिल है .. वे महिलाओं और उन लोगों में अधिक आम हैं जो लंबे समय तक एक ही स्थिति में बैठते हैं या खड़े होते हैं। पारस इंस्टीट्यूट ऑफ व्हास्कुलर एंड एन्डोवास्कुलर सर्जरी ने न्यूनतम इनवेसिव तकनीक विकसित की है। वैरिकाज़ नसों की रेड्रोफ्रेक्वायेंसी पृथक्करण (आरएफए) वैरिकाज़ नस की पारंपरिक सर्जरी भी की जाती है, जब भी आवश्यक हो |

डीप वें थ्रॉमबोसिस (डी वी टी):

डी वी टी एक गंभीर स्थिति है जहां रक्त के थक्के पैरों की गहरी नसों में विकसित होते हैं, जिनके हार्ट या लंग मे पहुचने से अचानक मौत भी हो सकती है|। पारस इन्स्टिट्यूट ऑफ नास्कलर एंड एंडोवास्कुलर सर्जरी, शुक्राणु बायपास जैसे जटिल सर्जिकल ऑपरेशंस के लिए व्यापक उपचार प्रदान करता है।

मॅनेज्मेंट ऑफ थोरॅसिक और आब्डॉमिनल आयारटिक अनेयीसम्स:

वीकेनिंग ऑफ आयारटिक वेज़ल वॉल इन चेस्ट ओर अब्डोमन -बेलूनिंग ऑफ आयार्टा, ब्लड प्रेशर की वजह से । पारस इंस्टीट्यूट ऑफ व्हास्कुलर एंड एंडोवास्कुलर सर्जरी में सभी नियमित और जटिल एन्योरिवाइम समस्याएं से निपटने की क्षमता है।

स्ट्रोक को रोकने के लिए कैरोटिड आर्टरी रोग का उपचार:

हार्डनिंग ऑफ थे आर्टरीस (अतरोस्क्लरोसिस) गर्दनको प्रभावित करने से सख्त होने से स्ट्रोक हो सकता है। कैरोटिड आर्टरी रोग और स्ट्रोक के साथ मरीजों का इलाज वॅस्क्युलर सर्जन और स्ट्रोक की रोकथाम के लिए समर्पित न्यूरो चिकित्सक की एक टीम द्वारा किया जाता है। पारास इंस्टीट्यूट ऑफ व्हास्कुलर एंड एंडोवास्कुलर सर्जरी ने पट्टिका को हटाने के लिए कैरोटिड एंडैरेरेक्टॉमी प्रदर्शन किया।

वॅस्क्युलर मॅलफोर्मेशन्स:

कुछ रोगियों में असामान्य रूप से विकसितब्लड वेसल्स है जो विरूपण या निष्क्रिय कर सकते हैं। हमारे सर्जनों में इन वॅस्क्युलर मॅलफोर्मेशन्स(सर्जिकल, एंडोवस्कुलर, लेजर और स्केलेरोथेरेपी) के सफल और संतुष्टिदायक उपचार में काफी अनुभव है

वॅस्क्युलर ट्राउमा:

कई युवा लोग जो दुर्घटना के शिकार होते हैं, वे अपने अंगों को रक्त की आपूर्ति के नुकसान से खो देते हैं। 6 घंटे की अवधि के भीतर समय पर हस्तक्षेप इन अंगों को बचा सकता है। हम, परस इंस्टीट्यूट ऑफ वैस्कुलर और एंडोवास्कुलर सर्जरी में, ट्रॉमा मरीजों के अंग से बचाव में विशेषज्ञ हैं।

हमारे वैस्कुलर और एंडोवास्कुलर सर्जरी के विशेषज्ञ

आपके स्वास्थ्य के लिए एक शक्तिशाली टीम

ब्लॉग