PRESS RELEASE

Apr 25, 2022

पारस ग्लोबल हाॅस्पिटल में लगा मुफ्त गैस्ट्रो कैम्प

पारस ग्लोबल हाॅस्पिटल में लगा मुफ्त गैस्ट्रो कैम्प
  • हाॅस्पिटल के गैस्ट्रो विभाग के अध्यक्ष डाॅ. शरद कुमार झा ने कहा, देष में डायरिया से हर घंटे 13 बच्चों की मौत हो जाती है
  • जीवन शैली में बदलाव लाकर पेट संबंधी बीमारियों को कम किया जा सकता है, तनाव पेट की बीमारियों को जन्म देता है

दरभंगा, 09 फरवारी 2018। पारस ग्लोबल हाॅस्पिटल, दरभंगा में शनिवार को गैस्ट्रो (पेट रोग) का मुफ्त शिविर लगाया गया जिसमें पेट रोग से पीड़ित सैकड़ों लोगों ने भाग लिया। इस कैम्प में हाॅस्पिटल के गैस्ट्रो इंटीरियोलाॅजी विभाग के हेड डाॅ. शरद कुमार झा ने कहा कि बिहार में डायरिया से एक लाख लोग पीड़ित हैं जिनमें 70 फीसदी मरीज ग्रामीण क्षेत्र के हैं। उन्होंने कहा कि अपने देश में प्रति घंटे 13 बच्चों की मौत डायरिया से हो जाती है। पेट का कैंसर पुरूषों में दूसरा सबसे आम कैंसर है तथा एशिया समेत विश्व में महिलाओं के लिए यह तीसरा सबसे काॅमन कैंसर है। पेट के कैंसर के मामले देर से पकड़ में आते हैं। इसलिए इसका इलाज संभव नहीं हो पाता है। यदि शुरूआती दौर में यह पकड़ में आ जाए तो इसका इलाज संभव है।

डाॅ. झा ने कहा कि पारस में अत्याधुनिक गैस्ट्रो विभाग है जिसमें एक से एक अनुभवी डाॅक्टर तथा मशीनें उपलब्ध हैं, जिसकी बदौलत हमलोग पेट की बीमारी से ग्रसित कई मरीजों का इलाज कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि यहां अत्याधुनिक इंडोस्कोपी मशीन है जिससे पेट के अंदर की बीमारीरियों का आसानी से पता कर लिया जाता है। उन्होंने कहा कि जीवन शैली में बदलाव लाकर लोग पेट रोग से संबंधी बीमारियों से निजात पा सकते हैं। उन्होंने कहा कि तनाव के कारण पेट की बीमारियां बढ़ती है, इसलिए लोग तनाव कम करने का प्रयास करें। तनाव से पाचन क्रिया प्रभावित होती है, इसलिए आदमी अपने ऊपर दवाब कम करे। लोग अपने आप को शांत रखें तो पेट की बीमारियों पर काबू पाया जा सकता है। इसके अलावा लोग सिगरेट, जर्दा, तम्बाकू आदि के सेवन करने से परहेज करें।

उन्होंने पाचन क्रिया को लेकर कुछ टिप्स लोगों को दिये:-

  1. खाना खाने में समय दें, पूरी तरह चबाकर खाना खाएं।
  2. ज्यादा खाना (ओवरइट) नहीं खाएं। हल्का-हल्का खाना खाएं। तीन बार ज्यादा खाना खाने की जगह पांच बार हल्का खाना खाएं।
  3. एक खास अंतराल के बाद खाना खाएं तथा समय पर खाना लेना न भूलें।
  4. रात में सोने से पहले ज्यादा खाना न खाएं। सोने से दो-तीन घंटे पहले ही खाना खाना चाहिए।
  5. पानी भी काफी पियें। यदि आपका वजन उम्र के हिसाब से ज्यादा है तो आपके शरीर की चर्बी आपके पेट पर दबाव बनाएगी और छाती में जलन (हार्टवर्ण) पैदा करेगी।

कैम्प में आए मरीजों ने कहा कि पाचन क्रिया के संबंध में यहां हमें लाभदायक बातंे बतायी गयीं। उन्होंने कहा कि डाॅक्टर के साथ प्रश्न-उत्तर के रूप में बातचीत हम लोगों के लिए काफी फायदेमंद रही।