PRESS RELEASE

Apr 25, 2022

पारस हॉस्पिटल अपने यहाँ भर्ती मरीजों को वोट दिलवाने बूथ पर ले जायेगा

पारस हॉस्पिटल अपने यहाँ भर्ती मरीजों को वोट दिलवाने बूथ पर ले जायेगा
  • देश का शायद यह पहला हॉस्पिटल होगा जिसने मरीज वोटरों तथा उनके परिजनों को मतदान कराने की अनूठी योजना बनाई है
  • पटना के डीएम सह निर्वाची पदाधिकारी रवि कुमार ने की इस योजना की सराहना, कहा उचय पटना के अन्य अस्पताल भी इस योजना का अनुसरण करें
  • वैसे मरीजों को ही वोट दिलवाने के लिए बुथ पर ले जाया जायेगा जो बाहर जाने की स्थिति में होंगे, एम्बुलेंस में रहेंगे डॉक्टर, नर्स और पारा मेडिकल स्टाफ

पटना, 07 मई 2019 : पारस एचएमआरआई सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल, राजा बाजार, पटना ने अपने अस्पताल में भर्ती पाटलिपुत्रा तथा पटना साहेब संसदीय क्षेत्रों के वैसे मरीजों तथा उनकी सेवा में लगे परिजनों को 19 मई को मतदान कराने की अनूठी योजना पेश की है जो अस्पताल से बाहर जाने की स्थिति में हैं। ऐसी योजना शायद, पहली बार देश में किसी अस्पताल ने बनायी है। मरीज वोटरों के मतदान केन्द्र पर पहुंचते ही शीघ्र मतदान कराने के लिए पारस हॉस्पिटल प्रबंधन ने पटना के जिलाधिकारी सह निर्वाची पदाधिकारी रवि कुमार से ग्रीन कॉरीडोर बनाने का अनुरोध किया है। पारस की इस अनूठी योजना की तारीफ करते हुए पटना के जिलाधिकारी ने स्थानीय अन्य अस्पतालों को भी इस तरह का नेक प्रयास करने की अपील की है। मरीज वोटरों को पारस हॉस्पिटल अपने डॉक्टरों नर्सों तथा पारा मेडिकल स्टाफ के साथ एम्बुलेंस से भेजेगा और वोट दिलवाकर पुनः अस्पताल सुरक्षित ले आयेगा।

हॉस्पिटल परिसर में आज मंगलवार 07 मई को आयोजित संवाददाता सम्मेलन में डॉ. तलत हलीम रिजनल डायरेक्टर (इस्ट) पारस हेल्थ केयर ने यह जानकारी देते हुए बताया कि वैसे ही मरीजों को वोट दिलवाने के लिए भेजा जायेगा जो बाहर जाने की स्थिति में होंगे। उनके साथ उनके परिजन भी वोट डाल सकेंगे। उन्होंने कहा कि मरीजों तथा परिजनों को वोट दिलवाने के लिए हमारे अस्पताल में हर जगह अपील बोर्ड लगा है। मरीज और परिजन अपने-ंउचयअपने सहमति पत्र अस्पताल प्रबंधक को सौपेंगे। डॉ. हलीम ने कहा कि हम चाहते हैं कि बाहर जाने लायक वैसे सभी मरीज तथा उनके परिजन लोकतंत्र की रक्षा के लिए अपना मत जरूर डालें। उन्होंने कहा कि मु-हजये लगता है कि इस तरह की योजना पहली बार किसी अस्पताल ने बनाई है। इस मौके पर पारस हेल्थ केयर के सी.ओ.ओ. डॉक्टर शंकर नारंग ने कहा कि पारस बिहार में बोन मैरो ट्रांसप्लांट समेत कई तरह के अत्याधुनिक इलाज शुरू कर चुका है तथा मरीजों के साथ दोस्ताना व्यवहार यहां के डॉक्टरों, नर्सों तथा पारा मेडिकल स्टाफ में शामिल है। इसलिए हमने मरीजों को उसके अधिकार की रक्षा के लिए मरीजों से वोट डलवाने की योजना बनाई है। उन्होंने कहा कि जब वोट डालने के लिए विदेश से लोग आ सकते हैं तो मेरा मरीज क्यूं नहीं अपना मत दे पायेगा। इस मौके पर हॉस्पिटल के फैसिलिटी डायरेक्टर डॉ. अजय सिंह भी मौजूद थें।