16 वर्षीय नौजवान की सजड़क दुर्घटना से कोमा में जाने के बाद पारस हाॅस्पिटल के न्यूरोसर्जन ने बचाई जान